Monday, June 24, 2024
HomeNewsकिस तारीख होगा होलिका दहन🔥2023, 6 या 7 मार्च ?🤔 || Which...

किस तारीख होगा होलिका दहन🔥2023, 6 या 7 मार्च ?🤔 || Which date will be Holika Dahan🔥2023, March 6 or 7🤔?

होलिका दहन 2023, कब होगा होलिका दहन, होली डेट 2023, होली शुभ मुहूर्त, होली दहन का समय, होली दहन दिनांक, होली, राजस्थान में होलिका दहन का समय, पूजन विधि, होलिका पूजन विधि {Holika Dahan 2023, when will Holika Dahan happen, Holi date 2023, Holi auspicious time, Holi Dahan time, Holi Dahan date, Holi, Holika Dahan time in Rajasthan, worship method, holika worship method} 

भारतवर्ष में होली को रंगों का त्योहार माना जाता है तथा साथ ही इस दिन को बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक माना जाता है। इस वर्ष होली दहन की तिथि 2 बताई जा रही है जिसकी वजह है की इस वर्ष पूर्णिमा 2 तिथियों को आई है इसलिए सभी जानना चाहेंगे की होलिका दहन किस दिन को करना शुभ रहेगा आइये जानते है होलिका दहन के शुभ समय को। 

हर वर्ष भारत देश में फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि के दिन होलिका दहन किया जाता है। जिसके बाद ही अगले दिन रंगों की होली यानी की धुलंडी खेली जाती है, प्रदोष काल का समय होली दहन के लिए अच्‍छा माना जाता है। पूर्णिमा तिथि इस वर्ष 6 मार्च से शुरू होकर 7 मार्च तक रहेगी। पूर्णिमा तिथि दोनों दिन (6 व 7 मार्च) प्रदोष काल को स्पर्श करेगी।  ऐसे में तमाम लोग परेशान है की आखिर किस तिथि को होलिका दहन किया जाना चाहिए ?

1. होलिका दहन का शुभ समय क्या है ?

  • इस वर्ष पूर्णिमा तिथि 6 मार्च को शाम 6 बजकर 17 मिनट पर शुरू होकर 7 मार्च 2023 को 06:09 मिनट तक रहेगी। लेकिन इस वर्ष होलिका दहन 7 मार्च 2023 मंगलवार को किया जाएगा। जिसके लिए शुभ मुहूर्त शाम 6 बजकर 24 मिनट से रात 8 बजकर 51 मिनट (Holika Dahan Shubh Muhurat) तक रहेगा। 
  • उसके बाद 8 मार्च को रंगों की होली यानी की धुलंडी खेली जाएगी।
  • स्मृति सार नामक शास्त्र के मुताबिक जिस वर्ष फाल्गुन की पूर्णिमा 2 तिथियों के प्रदोष को स्पर्श करें, उस वर्ष दूसरी पूर्णिमा अतार्थ अगले दिन में होलिका दहन किया जाता है। इस बार भी ऐसे ही हालात सामने आ रहे है इस वर्ष भी पूर्णिमा तिथि 6 और 7 मार्च दो दिनो तक प्रदोष काल को स्पर्श कर रही है  ऐसे में दूसरी पूर्णिमा यानी की 7 मार्च को होलिका दहन करना शुभ रहेगा। 


2. 6 मार्च को क्यों नहीं जलेगी होली ?

  • ऊपर हम 7 मार्च को होलिका दहन का कारण जान चूके है अब देखेंगे की 6 मार्च को होलिका दहन क्यों नहीं करना चाहिए। 
  • क्योंकि इस 6 मार्च को पूर्णिमा तिथि पर भद्रा का साया है। भद्रा का समय 6 मार्च सोमवार शाम 4 बजकर 18 मिनट से शुरू होकर 7 मार्च 2023 को सुबह 5 बजकर 15 मिनट तक रहेगी। 
  • भद्रा के चलते समय किसी भी शुभ काम को करना अशुभ माना जाता है। जिसके आपको बुरे परिणाम भी झेलने पड़ सकते हैं। 
  • निर्णय सिंधु ग्रंथ के अनुसार भद्रा के समय में अगर होली जलाई जाए तो देश को बड़ी हानि का सामना कर पड़ सकता है साथ ही लोगो को भी भयानक कष्ट का सामना करना पड़ सकता है।
  •  7 मार्च 2023 मंगलवार की पूर्णिमा तिथि भद्रा मुक्त होगी, ऐसे में 7 मार्च 2023 मंगलवार को ही को ही होलिका दहन किया जायेगा। 


3. होली की पूजन विधि

  • होली की पूजा और दहन हमेशा शुभ मुहूर्त  यानि की भद्रा मुक्त समय में करना चाहिए। 
  • होलिका की पूजा के लिए सबसे पहले पूर्व दिशा में मुंह करके होली को जल के साथ, रोली,  फूल, पीली सरसों, अक्षत, मिठाई और गुलाल अर्पित करें। 
  • इसके बाद नई फसल यानी कि गेहूं, जौ, चने की बालियां होली पर चढ़ाये। उसके बाद होलिका की सात बार परिक्रमा पूरी करें। 


दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने होलिका दहन के विषय को लेकर चर्चा की है आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताये और फ्यूचर में नई खबरों से अपडेट रहने के लिए आप हमारी वेबसाइट को फॉलो कर सकते है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments