Monday, June 24, 2024
HomeNewsपहली भारतीय महिला शिक्षिका सावित्री बाई फुले की कहानी || The story...

पहली भारतीय महिला शिक्षिका सावित्री बाई फुले की कहानी || The story of Savitri Bai Phule, the first Indian female teacher

सावित्री बाई फुले,  सावित्री बाई फुले का इतिहास, सावित्री बाई फुले की कहानी, सावित्री बाई फुले का जीवन परिचय, 10 मार्च का इतिहास{Savitribai Phule, History of Savitribai Phule, Story of Savitribai Phule, Life Introduction of Savitribai Phule, History of 10 March}

आज के इस लेख में हम बात कर रहे है प्रथम महिला शिक्षिका सावित्री बाई फुले की आज के दिन क्या खास हुआ था क्यों इस दिन को बड़े धूम धाम से बनाया जाता है इसका जवाब आपको इस लेख में मिलेगा। 

सावित्री बाई फुले का जीवन परिचय

  • सावित्री बाई का जन्म 3 जनवरी 1831 को मुंबई में हुआ था। 
  • सावित्री बाई के पिता का नाम खन्दोजी नैवेसे था। व माता का नाम लक्ष्मीबाई था। 
  • सावित्री का विवाह 1840 में ज्योतिराव फुले से हुआ था। 
  • सावित्री बाई फुले भारत की पहली गर्ल्स स्कूल की पहली महिला प्रिंसिपल बनी थी। 
  • सावित्री बाई का निधन 10 मार्च 1997 में को हुआ था। 
  • सावित्री ने अपने जीवन में बहुत से समाज सेवा के काम किये। 


सावित्री बाई की पुण्यतिथि 

  • सावित्री बाई एक समाज सेविका थी, वह प्लेग से पीड़ित रोगियों की सेवा करते करते खुद इस बीमारी का शिकार हो गयी थी तथा 10 मार्च 1897 में को सावित्री बाई की मृत्यु हो गयी थी। 
  • सावित्री बाई को मुख्यतः भारत की पहली महिला शिक्षिका होने के कारण जाना जाता है। 
  • सावित्री ने अपने पति के साथ मिलकर महिला विकास के लिए व उनके अधिकारों को अच्छा बनाने में मुख्य भूमिका निभाई है। 
  • सावित्री बाई को भारतीय नारीवाद की जननी माना गया है। 
  • हर वर्ष 10 मार्च को सावित्री की पुण्यतिथि के रूप में मनाया जाता है। 

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने सावित्री बाई फुले के बारे में चर्चा की है, आपको ये पोस्ट कैसी लगी मुझे कमेंट करके जरूर बताये और हाँ ऐसी मज़ेदार पोस्ट हम आपके लिए लाते रहेंगे अगर आप भी चाहते है उन्हें पढ़ना तो आप हमारी वेबसाइट Knovn.in को फॉलो कर सकते है। 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments